महत्वपूर्ण निर्णय

किसानों ने केंद्र सरकार को दिया अल्टिमेटम, यदि उनकी माँगें ना पूरी हुईं तो 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस पर किसान लायेंगे दिल्ली में ट्रैक्टर।

यदि 4 जनवरी को सरकार से वार्ता असफल हुई, तो 6 जनवरी को किसान केएमपी इक्स्प्रेस वे पर मार्च करेंगे।

देश भर में इस आंदोलन को गति देने के लिए तथा सरकारी झूठ और प्रचार को बेनक़ाब करने के लिए, “देश जागृति पखवाड़ा” 6 जनवरी से 20 जनवरी तक मनाया जाएगा।

13 जनवरी को लोढ़ी/संक्रान्ति के अवसर पर देश भर में “किसान संकल्प दिवस” मनाया जाएगा और तीनों कृषि क़ानूनों की प्रतियाँ जलायी जायेंगी।

18 जनवरी को महिला किसान दिवस मनायेंगे और देश के कृषि क्षेत्र में महिलाओं के योगदान को उजागर करेंगे।

23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्रा बोस की याद में “आज़ाद हिंद किसान दिवस” मना कर सभी राजधानियों में राज्यपालों के आवासों के बाहर डेरा लगाया जाएगा।