लम्बा कारवां

Reuters

गैर की जमीन पीछे छोड़

गालियों और झिड़कियों की बेइज्जती से लदाफदा

लंबा कारवां चल पड़ा है

शाम की लंबी होती परछाईयों की तरह

बच्चे गधों की पीठ पर सवार हैं

पिता अपनी गोद में उठाए हुए हैं कुत्ते

माएं ढो रही हैं देगचियां

अपनी पीठ पर

जिनमें सो रहे हैं उनके बच्चे

लंबा कारवां चल पड़ा है

अपने कांधों पर अपनी झोपड़ियों के बांस लादे

कौन हैं ये

भुखियाए आर्य

हिन्दुस्तान की कौनसी जमीन पर

रहने जा रहे हैं ये

नए लड़कों को कुत्ते प्यारे हैं

महलों के चेहरों का प्यार

वो कैसे पालें

इन भूखों ने पीछे छोड़ दी है

किसी गैर की ज़मीन

लम्बा कारवां चल पड़ा है।