Category: Edition 2

ਉਹ ਭਾਈ!

ਧਿਆਨ ਨਾਲ ਦੇਖ
ਕਣਕ ਝੋਨੇ ਜਾਂ ਬਾਜਰੇ ਦਾ ਰੰਗ
ਬਹੁਤ ਵੱਖਰਾ ਨਹੀਂ ਹੁੰਦਾ
ਧਰਤੀ ਦੇ ਰੰਗ ਨਾਲੋਂ

Read More »

हमारे लहू को आदत है।

हमारे लहू को आदत है
मौसम नहीं देखता, महफ़िल नहीं देखता
ज़िन्दगी के जश्न शुरू कर लेता है
सूली के गीत छेड़ लेता है

Read More »

पलवल: किसान आंदोलन का पांचवा मोर्चा

रोना आपदा को अवसर बनाकर मोदी सरकार लगतार जनविरोधी नीतियों को लागू करती जा रही थी, देश के श्रमिकों के श्रम कानूनों में परिवर्तन करने के बाद मोदी सरकार का विनाशकारी अश्वमेघी घोड़ा

Read More »

विरोधी कृषि क़ानूनों के खिलाफ अपना आकार बढ़ता

कृषि क़ानूनों के खिलाफ आरम्भ हुए किसान आंदोलन को बदनाम करने के लिए संघी पलटन द्वारा चलाये जा रहे कुत्सित प्रचार का  उत्तर प्रदेश उत्तराखंड के किसानों ने गाजीपुर बॉर्डर पर मोर्चा खोलकर पानी फेर दिया।

Read More »

किसान आंदोलन का राष्ट्रव्यापी स्वरूप!

मोदी सरकार के तीन कृषि बिलों के विरोध में अगस्त में पंजाब से शुरू हुआ किसान आंदोलन अपने अगले पड़ाव में दिल्ली सीमा पर पहुँच गया है। चौथे हफ़्ते में पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान दिल्ली की टिकरी,

Read More »

पिज़्ज़ा-फ़ुट मसाजर से परे सुक्खा की सेवा

सिंघू बॉर्डर पर मौजूद किसान आंदोलन में हिस्सा ले रहे बुज़ुर्ग  लोगों के लिए खालसा ऐड ने बड़ी  गिनती में फुट मसाजर इनस्टॉल किये, यह खबर आप में से कई लोगों ने पढ़ी होगी या सुनी होगी।

Read More »

ਪੰਜਾਬ ਵਿਚ ਅਦਾਨੀ

ਅਦਾਨੀ ਸਮੂਹ ਨੇ ਇਸ਼ਤਿਹਾਰਾਂ ਰਾਹੀਂ ਦੱਸਿਆ ਕਿ ਇਸਦੀ ਪੰਜਾਬ ਦੀ ਖੇਤੀ ਤੇ ਜ਼ਮੀਨ ਵਿੱਚ ਕੋਈ ਦਿਲਚਸਪੀ ਨਹੀਂ ਤੇ ਪਰ ਸਚਾਈ ਇਹ ਹੈ ਕਿ ਅਦਾਨੀ ਸਮੂਹ

Read More »

ਟਿਕਰੀ ਦੀ ਰਸੋਈ ‘ਚੋਂ…

“ਭੈਣੇ ਜਦੋਂ ਮੈਂ ਆਇਆ ਸੀ ਮੋਰਚੇ ‘ਤੇ ਤਾਂ ਮੈਨੂੰ ਆਟਾ ਵੀ ਨੀ ਸੀ ਗੁੰਨਣਾ ਆਉਂਦਾ। ਹੁਣ ਦੇਖੋ ਰੋਟੀਆਂ ਕਿਵੇਂ ਫੁੱਲਦੀਆਂ ਨੇ…” ਮੈਨੂੰ ਗਰਮ ਗਰਮ ਰੋਟੀ

Read More »