कृषि संकट और आवारा पशुओं की परेड

संदीप पांडे

समाजवादी पार्टी (भारत) की किसान इकाई, समाजवादी किसान सभा उन्नाव और हरदोई ज़िलों में गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या और अवसर पर अपनी गोजातीय परेड की। समाजवादी किसान सभा के अध्यक्ष, अनिल मिश्रा को, 25 जनवरी, 2021 को सुबह उन्नाव ज़िले के खानपुर पीराली गाँव में उनके घर से हिरासत में लिया गया और फ़िर उन्हें आसीवान पुलिस थाने ले जाकर, पूरे दिन के लिए उन्हें वहाँ रखा गया। दो गायों के साथ 19 ग्रामीणों ने मियागंज चौराहे से अपनी परेड शुरू की और 50 किलोमीटर की दूरी पर लखनऊ की ओर चल दिए, मवेशियों को योगी आदित्यनाथ को सौंपने के लिए क्योंकि ये आवारा पशु गांव में एक ख़तरा बन गए हैं। वे 7 से 8 किलोमीटर की दूरी ही तय कर पाए थे जब उन्हें उन्नाव ज़िले के तहसील हसनगंज में रोका गया। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री के साथ बात रखने का वादा किया।

 26 जनवरी को सैकड़ों ग्रामीण हरदोई ज़िले के संडीला तहसील के ग्राम सभा लालमऊ मवई, परसा और बहेरिया से घिरे एक बाड़े में इकट्ठे हुए। इस बाड़े को ग्रामीणों द्वारा बनाया गया था, ताकि गाय उनकी फ़सलों को नहीं काटेंगी। मार्च में शामिल मवेशियों के साथ सैकड़ों ग्रामीणों को एसएचओ ने रोक लिया। हालाँकि, मवेशियों को गाय आश्रय में स्थानांतरित करने का मुद्दा अभी भी अनसुलझा है। ग्रामीणों ने तहसीलदार का घेराव किया और उनसे कहा कि जब तक लगभग सभी 80 मवेशियों को गाय आश्रय में स्थानांतरित नहीं किया जाता, तब तक वे नहीं जा सकते।अधिकारियों द्वारा मवेशियों को गाय आश्रय में स्थानांतरित करने के लिए दो वाहनों की व्यवस्था की गई।